Advertisement
सरकारी योजनाएं

मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा 2022 (fasal.haryana.gov.in) ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, Meri Fasal Mera Byora Registration

Meri Fasal Mera Byora
Written by Himanshu Grewal

Meri Fasal Mera Byora Registration 2022: नमस्ते, 10Lines.co में आज हम मेरी फसल मेरा ब्यौरा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हरियाणा से संबंधित जानकारी के विषय में चर्चा करेंगे, तो लेख को अंत तक पूरा पढ़ें और Meri Fasal Haryana Registration, मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना रजिस्ट्रेशन, Download Meri Fasal Mera Byora Online Application Form PDF, मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा, Haryana Meri Fasal Mera Byora Form, मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा ऑनलाइन पोर्टल इत्यादि की जानकारी प्राप्त करें।

Meri Fasal Mera Byora Yojana 2022

भारत विश्व में कृषि प्रधान देश के रूप में जाना जाता हैं और यहां की आबादी का 70 प्रतिशत लोग खेती पर निर्भर करते हैं। यानी बहुत बड़ी आबादी कृषि और किसानों पर निर्भर है पर जैसे जैसे समय बीतता जा रहा है भारत का किसान उतना ही मजबूर नजर आ रहा हैं। किसान दिन रात मेहनत करता है ताकि उसे उसकी फसल से आमदनी हो, पर ऐसा हो नहीं पाता। लेकिन इस समस्या के समाधान के लिए अब एक पोर्टल शुरू किया गया है जिसका नाम है मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (Meri Fasal Mera Byora Portal). आज हम बात करने जा रहे है हरियाणा सरकार द्वारा लिया गया एक बहुत अहम कदम की जो है मेरी फसल मेरा ब्यौरा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन हरयाणा। दरसल यह एक पोर्टल है जिसके जरिये किसान Online Registration करवा कर हरियाणा ई-खरीद का लाभ प्राप्त कर सकते है साथ ही साथ अपनी फसलों का विवरण भी रेजिस्टर कर सकते हैं।

Fasal haryana gov in 2022

योजना का नाम:हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2022
किसने चालू की:मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा
वर्ष:2022
डिपार्टमेंट:किसानों और कृषि किसान मंत्रालय
उद्देश्य:किसान और खेत का पंजीकरण
लाभार्थी:राज्य के किसान
आवेदन की प्रक्रिया:ऑनलाइन
कैटेगरी:हरियाणा सरकार योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट:fasal.haryana.gov.in पर जाईये

Meri Fasal Mera Byora Portal 2022

मेरी फसल मेरा ब्यौरा नाम से हरियाणा सरकार द्वारा एक योजना के अंर्तगत एक पोर्टल बनाया गया है जिसके द्वारा अब किसान घर बैठे अपने फोन द्वारा ऑनलाइन कृषि संबंधित जानकारियां और फसलों के बारे में उचित जानकारिया प्राप्त कर पाएंगे। इसमें आवेदन की शुरुआत 5 जुलाई 2019 में की गई। राज्य सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं को किसानों से जोड़ने और किसानों को मिलने वाली सहायता और सुविधा के बारे में जानकारी के लिए इस पोर्टल को बनाया गया ताकि किसान इसका लाभ उठा पाए। इस योजना में राज्य के हर एक किसान को जोड़ना है ताकि फसलों के विषय में किसान शिक्षित भी हो और सही समय पर सही फसल लगा कर किसान राज्य को कृषि संपन्न बना सके।


मेरी फसल मेरा ब्यौरा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें

  • सबसे पहले जो भी किसान अपना पंजीकरण कराना चाहते है उन्हें ऑफिशियल वेबसाइट fasal.haryana.gov.in पर जाना होगा। अपने फोन में गूगल पर भी टाइप कर सकते हैं।

fasal.haryana.gov.in

  • उसके बाद आप पोर्टल के होम पेज पर पहुंच जाएंगे। उसके बाद आपको पंजीकरण का लिंक दिखाई देगा उसे क्लिक करें।
Fasal Haryana Registration

Fasal Haryana Registration

  • उसके बाद एक फॉर्म खुल जाएगा जिसमें मांगी गई जानकारी भरे। जैसे अपना मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, परिवार आईडी भरनी है। उसके बाद आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा जिसे भरकर सत्यापन की प्रक्रिया पूरी होगी जिससे किसान अपना ऑनलाइन पंजीकरण कर सकता हैं।
FasalHaryana

FasalHaryana

  • ऑनलाइन पंजीकरण (हरियाणा) की जानकारियां किसान तथा VLEs द्वारा भरी जायेगी।

यदि अपने फोन से मेरी फसल मेरा ब्यौरा में रजिस्ट्रेशन न हो तो क्या करे?

जो किसान अपने फोन से पंजीकरण नहीं कर पा रहे है वे लोग अपने नजदीकी CSC केंद्र में जाकर पंजीकरण करा सकते हैं। अपने जरूरी दस्तावेज लेकर आपको CSC केंद्र जाना होगा और निशुल्क पंजीकरण की प्रक्रिया पूर्ण की जाती है और CSC से प्राप्त रसीद को अपने पास सुरक्षित रखें।


हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा फसल पंजीकरण 2022 के लाभ

इस पोर्टल पर पंजीकरण करने से किसानो को अनेक लाभ है और इस योजना से न केवल छोटे बड़े किसान लाभान्वित होंगे साथ ही ये कृषि संबंधी बहुत सी समस्याओं का समाधान भी होगा। आइये जानते है Haryana Meri Fasal Mera Byora Registration के लाभ।

grammarly

Meri Fasal Mera Byora Benefits

  1. इस पोर्टल में रजिस्टर होने से किसानों को खाद, कृषि के लिए उपकरण, कृषि हेतु लोन आदि पर सब्सिडी समय पर मिल जाती है और किसानों के लिए कृषि करना पहले से थोड़ा आसान बना देती हैं।
  2. प्राकृतिक आपदा से किसान सबसे ज्यादा प्रभावित होता है। तो ऐसी परिस्थिति में किसान की फसल को या किसान को आपदा झेलनी पड़े तो इसकी भरपाई के लिए सरकार द्वारा मुआवजा दिया जाता है और ये सुविधा केवल पंजीकृत किसानों को ही मिलती हैं।
  3. किसानों को उनकी फसल के उचित दाम न मिलने के कारण लोग कृषि छोड़ कर नौकरी के लिए शहरों की और बढ़ रहे है और अपने बच्चों को किसान नहीं बनाना चाहते लेकिन अब इस पोर्टल के द्वारा किसानों को उनकी फसलों के उचित दाम मिल जाते हैं।
  4. इस पोर्टल में कृषि विभाग द्वारा बुआई फसलों के कटान और मंडी के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाती हैं।
  5. एक ही पोर्टल पर किसानों का पंजीकरण कराने का उद्देश्य है कि सभी विभाग किसानों से जुड़े और उनकी समस्या और शिकायतों का समाधान भी करे।
  6. उपयुक्त सीजन के हिसाब से फसल बोई जा सकेगी जिससे किसान अच्छी फसल और अच्छी कीमत प्राप्त कर पाएंगे।
  7. किसान खरीफ की फसलों का ब्योरा ऑनलाइन देख पाएंगे और हरियाणा फसल संबंधित जानकारी अपने फोन पर ही प्राप्त कर लेंगे।
  8. पंजीकरण करने से किसानों को सरकार द्वारा किसानों को कृषि हित में चलाई जाने वाली योजनाओं के बारे में समय पर जानकारी प्राप्त हो पाएगी। पोर्टल पर नई अपडेट्स मिलती रहेंगी।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा का उद्देश्य


हरियाणा गवर्नमेंट के द्वारा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना (Meri Fasal Mera Byora Yojana 2022) को इसलिए चालू किया गया है ताकि ऐसे किसान जिन्हें गवर्नमेंट सेवाओं की जानकारी या फिर गवर्नमेंट की सेवा का फायदा एक ही जगह प्राप्त करना है वह कर सकें। इस पोर्टल पर किसानों को गवर्नमेंट की सारी सर्विस प्राप्त हो सकेगी और उनकी समस्या का समाधान भी हो सकेगा। खेती से संबंधित तमाम प्रकार की जानकारियां इस पोर्टल पर उपलब्ध है। हरियाणा के लोग इस पोर्टल के जरिए फसल की बिजाई कटाई का समय, बीज, कृषि उपकरण, खाद, लोन और मंडी से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे, साथ ही इस पोर्टल का उद्देश्य यह भी है कि प्राकृतिक आपदा की अवस्था में किसानों को जल्द से जल्द सहायता प्राप्त हो सके।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पंजीकरण करने के लिए आवश्यक दस्तावेज और पात्रता

पंजीकरण के लिए सबसे आवश्यक है कि आवेदक हरियाणा राज्य का स्थाई निवासी हो तथा उसके पास उसके जमीन संबंधित जानकारियां हो और उसके अतिरिक्त आवश्यक दस्तावेजों का विवरण नीचे अंकित किया गया हैं।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज और पात्रता

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • जमीन संबंधी कागजात (जमीन संबंधित कागजों में खेत का अभिलेख, खसरा खतौनी नंबर और मुरब्बा नंबर खसरा नंबर)
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र
  • परिवार पहचान पत्र जो सबसे अधिक आवश्यक है

मेरी फसल मेरा ब्यौरा स्टेटस चेक

अगर आप भी एक किसान हैं और अपना पंजीकरण संबंधी जानकारी या पंजीकरण की स्तिथि जानना चाहते हैं तो नीचे दिए गए अनुदेशों का पालन करे।

Meri Fasal Mera Byora Status Check 2022

  1. सर्वप्रथम आप मेरी फसल मेरा ब्यौरा की ऑफिशियल वेबसाइट fasal.haryana.gov.in पर जाए।
  2. वेबसाइट के खुलने के बाद वहां पर ‘प्रिंट करे’ ऑप्शन पर क्लिक करें।
  3. प्रिंट करे विकल्प के बाद अपना नाम दर्ज करें।
  4. नाम डालने के बाद अपना मोबाइल नंबर डालें और ध्यान रहे की पंजीकरण करते समय जिस नंबर का प्रयोग किया गया था उसी नंबर को डाले।
  5. मोबाइल नंबर डालने के बाद अपने “बैंक खाता संख्या” को ध्यान पूर्वक और सही डाले। गलत संख्या न डाले अन्यथा आपके पास जानकारी सही नहीं आ पायेगी।
  6. बैंक खाता संख्या डालने के बाद एंटर दबाए, आपके स्टेटस की जानकारी आपको आपके फोन की स्क्रीन पर ही दिख जाएंगी।

पंजीकरण सत्यापन के दौरान जमीन की मैपिंग भी होगी और एक एकड़ जमीन पर Rs.7000 प्रति एकड़ की वित्तीय सहायता दी जाएगी। जिन किसानों के खेतों में केवल चारा उगाया जाता है उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलेगा। सरकार द्वारा दी जाने वाली राहत या मुआवजा की राशि सीधे किसान के बैंक खाते में डाला जायेगा।

राजस्व विभाग द्वारा ई-गिरदावरी तथा हरियाणा अंतरिक्ष उपयोग केंद्र द्वारा मिलकर सेटेलाइट की सहायता से इमेज सत्यापन किया जायेगा और यदि कोई डाटा गलत या विसंगति पाया जाता है तो तहसील स्तर के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा सत्यापित किया जायेगा। इस प्रकार हरियाणा राज्य सरकार द्वारा किसान पंजीकरण और सम्पूर्ण व्यवस्था को सबके लिए उपयोगी और पारदर्शी बनाया गया हैं।


फसल रजिस्ट्रेशन हरयाणा 2022 आवेदन फॉर्म को प्रिंट कैसे करें?

इस योजना में अप्लाई कर के लाभार्थी बन चुके व्यक्ति अगर अपने एप्लीकेशन फॉर्म को प्रिंट करना चाहते हैं, तो उन्हें हमने नीचे जो प्रक्रिया बताई है, उसका पालन करना पड़ेगा।

  • अपने एप्लीकेशन फॉर्म का प्रिंट आउट पाने के लिए आपको सबसे पहले इसकी ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट का लिंक हमने आपको नीचे दिया है।
https //fasal.haryana.gov.in
  • वेबसाइट पर पहुंच जाने के बाद आपको इसके होम पेज पर दिखाई दे रहे रजिस्ट्रेशन वाले विकल्प पर क्लिक कर देना है। ऐसा करने पर आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज ओपन हो करके आ जाएगा।
  • इस पेज के अंदर आपको प्रिंट फॉर्म का एक विकल्प दिखाई देगा, आपको इसके ऊपर क्लिक कर देना है। अब आपको अपनी स्क्रीन पर एक नया पेज ओपन हो करके आया हुआ दिखाई देगा।
  • इस पेज में आपसे जो भी जानकारी मांगी जा रही है, उन सभी जानकारियों को भरना है। जैसे कि आपका नाम, आपका फोन नंबर, आपका बैंक अकाउंट नंबर इत्यादि।
  • सभी जानकारी को भर लेने के बाद आपको प्रिंट वाले विकल्प को दबा देना है। ऐसा करने पर आपकी स्क्रीन पर आपका एप्लीकेशन फॉर्म ओपन हो करके आ जाएगा। अब आप इसका प्रिंट आउट ले सकते हैं।

(पंजीकरण) मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन: fasal.haryana.gov.in पड़ोसी राज्य के किसान का पंजीकरण प्रिंट करने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले आपको मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा की वेबसाइट को विजिट करना है। इस वेबसाइट का लिंक हमने आपको नीचे दे रखा है।
  • वेबसाइट लिंक: fasal.haryana.gov.in | fasalharyana | fasal haryana gov in
  • वेबसाइट के होम पेज पर पहुंच जाने के बाद आपको होम पेज पर ही किसान अनुभाग का एक विकल्प दिखाई देगा, आपको इसके ऊपर क्लिक कर देना है। ऐसा करने पर आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज ओपन हो करके आ जाएगा।
  • इस पेज में आपको ‘पड़ोसी राज्य के किसान का पंजीकरण’ वाले विकल्प पर क्लिक कर देना है। ऐसा करने पर आपकी स्क्रीन पर एक नया फॉर्म ओपन हो जाएगा।
  • इस फॉर्म के अंदर आपको फोन नंबर और कैप्चा कोड को निश्चित जगह में डालना है।
  • सभी जानकारियों को भर देने के बाद आप को “जारी रखें” वाले ऑप्शन को दबा देना है। ऐसा करने पर फिर से आपकी स्क्रीन पर एक एप्लीकेशन फॉर्म ओपन हो करके आएगा।
  • इस एप्लीकेशन फॉर्म में जो भी जानकारी मांगी गई है, आपको उसे बिल्कुल सही सही भरना है।
  • सभी जानकारियों को भर लेने के बाद आपको एक बार सभी जानकारियों को क्रॉस चेक कर लेना है कि सभी जानकारी सही है अथवा नहीं। अगर सब कुछ सही है तो आपको सबमिट बटन को दबा देना हैं।

Meri Fasal Mera Byora में बैंक का विवरण कैसे बदले (पड़ोसी राज्य का किसान जिनकी जमीन हरियाणा में है)

  1. अपने बैंक अकाउंट की डिटेल्स को चेंज करने के लिए आपको सबसे पहले मेरी फसल मेरा ब्यौरा (हरियाणा) की वेबसाइट पर चले जाना है, जिसका लिंक हमने आपको ऊपर दे रखा है।
  2. वेबसाइट के होम पेज पर जब आप पहुंच जाएंगे, तब आपको “किसान अनुभाग” वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना है और उसके बाद आपके स्क्रीन पर एक नया पेज ओपन हो करके आ जाएगा।
  3. ओपन हुए नए पेज में आपको “बैंक विवरण बदले” वाले विकल्प को ढूंढना है और प्राप्त हो जाने पर उस पर क्लिक कर देना है।
  4. अब जो फॉर्म आपकी स्क्रीन पर ओपन हुआ है, उसमें आपको निश्चित जगह में फोन नंबर और कैप्चा कोड को डालना है और सभी जानकारियों को भरने के बाद आपको ‘जारी रखें’ वाले बटन को दबा देना है।
  5. अब जो एप्लीकेशन फॉर्म आपकी स्क्रीन पर ओपन हुआ है, उसमें आपको जो भी जानकारी मांगी गई है, उन सभी जानकारियों को भरना है।
  6. सभी जानकारियों को भरने के बाद एक बार क्रॉस चेक कर ले की जानकारी सही भरी गई है अथवा नहीं। अगर सब कुछ ठीक है तो सबमिट की बटन को दबा दें।

Meri Fasal Mera Byora Ki List

रबी की फसल
  1. गेहूं
  2. जौ
  3. अलसी
  4. सरसो
  5. मटर
  6. चना
  7. मसूर
  8. आलू
  9. तारामीरा
खरीब की फसल
  • धान
  • मक्का
  • ज्वार
  • बाजरा
  • मूंग
  • मूंगफली
  • उड़द
  • तुअर
  • जूट
  • कपास
  • मटर बाजरा
  • सोयाबीन

Meri Fasal Mera Byora Helpline Number

यदि किसानों को पंजीकरण करते समय या उसके पश्चात किसी भी प्रकार की समस्या होती है तो राज्य सरकार द्वारा कॉल सेंटर की स्थापना की गई हैं जहां किसान Toll Free Number 1800 180 2117 / 1800 180 2060 पर संपर्क कर सकते है या किसी भी प्रकार पंजीकरण संबंधी शिकायत को दर्ज करा सकते हैं।


मेरी फसल मेरा ब्यौरा पंजीकरण की अंतिम तिथि | Meri Fasal Mera Byora Last Date

मेरी फसल मेरा ब्यौरा में पंजीकरण का अंतिम तिथि 15 फरवरी 2022 तक दी गई हैं।

निष्कर्ष

इस प्रकार मेरी फसल मेरा ब्यौरा (हरियाणा), किसान पंजीकरण (हरियाणा) (Meri Fasal Mera Byora) से राज्य के किसानों के लिए एक ही जगह पर सारी सरकारी योजना संबंधित जानकारियां और सुविधा प्रदान करना साथ ही खाद, बीज फसल बुआई का समय, फसल कटाई का समय और सब्सिडी संबंधित जानकारी भी किसानों की मुफ्त मुहैया कराने में भी सरकार सफल हो पाई हैं।

केवल अपने ही राज्य में नहीं बल्कि पड़ोसी राज्यों को भी इस योजना में शामिल किया गया है। मंडी की जानकारी भी किसानों को काफी मदद करती है। अपनी फसल को सही रकम प्राप्त करने में और प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई भी किसानों को सरकार द्वारा समय पर उनके बैंक अकाउंट में निश्चित राशि के रूप में प्राप्त हो जाती है और कृषि संबंधित उपकरणों का वितरण आसानी से करना राज्य सरकार का उद्देश्य है। इसके द्वारा किसानों को काफी हद तक राहत की सांस मिलेगी और जो किसान कृषि से निराश हो उठे थे उनके मन में एक नई उम्मीद जागेगी जो भारत को कृषि प्रधान देश बनाए रखने में एक नीव का काम करेगा। fasal haryana gov in

About the author

Himanshu Grewal

10Lines.co एक हिंदी ब्लॉग है, यहां आपको 10 Lines से संबंधित जानकारी मिलेगी। इसके अलावा निबंध (Essay), भाषण (Speech), कविता (Poem) भी पढ़ने को मिलेगा।

Leave a Comment