Advertisement

Rose Day 2022 Kab Hai: रोज डे कब है? शायरी स्टेटस, यहां पढ़ें

नमस्कार प्रिय पाठकों🙏, 10Lines.co में आज Valentine Week 2022 के प्रथम दिवस अर्थात “Rose Day 2022” के विषय में चर्चा करेंगे और जानेंगे की Rose Day Kab Hai, रोज डे कब मनाया जाता है, रोज डे कब आता है, Valentine Day Kab Aata Hai, 13 फरवरी को कौनसा दिवस मनाया जाता है इत्यादि से जुड़ी कई प्रकार की जानकारी पढ़ने को मिलेगी। तो लेख को अंत तक पूरा पढ़ें।

Rose Day Images

Rose Day Kab Hai 2022 Mein

रोज डे की बात की जाए तो वेलेंटाइन वीक याद आ जाता है। क्योंकि वेलेंटाइन वीक की शुरुआत ही रोज डे से होती हैं। वैलेंटाइन वीक का सबसे पहला दिन होने की वजह से लोगों में खासा उत्साह देखने को मिलता हैं। ये दिन प्रेमी युगल एक दूसरे को लाल गुलाब देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं। Rose Day, 7 फरवरी को मनाया जाता हैं।

रोज डे कब है 2022 में

Rose Day 2022 DateMonday, 7 February 2022
Rose Day Date 2023Tuesday, 7 February 2023
Rose Day Kab Hota Hai 2024 MeinWednesday, 7 February 2024

Rose Day Kab Aata Hai 2022 Mein

7 फरवरी 2022 में मनाया जाता है रोज डे। वेलेंटाइन वीक में पहला दिन रोज डे इसलिए भी होता है क्योंकि अगर आप किसी से प्यार करते है या किसी के प्रति आपकी भावनाएं कुछ विशेष है तो उसको कोई सुंदर वस्तु देकर ही शुरुआत की जानी चाहिए। ये आपके पार्टनर या पसदीदा इंसान के मन में आपकी अच्छी छवि बनने में भी काफी मददगार रहेगा और कम से कम आपके भावनाओं को समझ भी पाएगा।

यू तो जो लोग अपने दोस्तों के साथ ये दिन मानना चाहते हैं। वे भी इस दिन को माना सकते है किसी और रंग का गुलाब
देकर। अलग अलग गुलाब का रंग अलग अलग भावनाओं को व्यक्त करता हैं। अगर आप भी मनाना चाहते है रोज डे तो आप इस तरीके से अलग अलग रंग के रोज देकर माना सकते है एक प्यारा सा डे।

गुलाब कितने प्रकार के होते हैं?

Rose GIF

Red Gulab Ka Phool

🌹 लाल गुलाब लाल रंग आकर्षण का रंग होता है। सबसे चमकीला और दूर से ही दिखाई देने वाला रंग। यू तो लाल रंग खतरे का भी होता क्योंकि इस रंग पर ध्यान सबसे पहले जाता हैं। तो लाल रंग का गुलाब का फूल देने का मतलब है पार्टनर का ध्यान अपनी ओर खींचना और लाल प्यार का रंग भी है तो इजहारे मोहब्बत के लिए ये रंग सबसे अच्छा माना गया है। लाल गुलाब देना प्यार जाहिर करने का सबसे अच्छा तरीका है ये रोमांस और प्यार का प्रतीक माना जाता है। लाल गुलाब देकर आप अपने साथी को प्यार का इजहार करें।

पीला गुलाब का फूल

पीला गुलाब का फूल, पीला रंग काफी शांत और सौम्य रंग हैं। तो इस तरह का गुलाब देने का मतलब है आप एक शांत और सौम्य रिश्ता चाहते है। अब ये आप अपने किसी दोस्त या पसंदीदा इंसान को दे सकते हैं।

grammarly

नारंगी फूल गुलाब का मतलब

ये गुलाब जुनून और उत्साह को दिखाता हैं। तो इस तरह का गुलाब अगर आपको मिले तो समझ जाइए के आप को ये गुलाब देने वाला शख्स जुनून के साथ प्यार करता हैं।

Blue Rose Meaning in Relationship in Hindi

नीला गुलाब तो काफी मुश्किल से मिलने वाला गुलाब है। अगर इस तरह का गुलाब आपको कोई देता है तो इसका मतलब है आप इस व्यक्ति के लिए काफी खास है और आपको खास तरीके से वो रोज डे wish करना चाहता हैं।

हरा गुलाब का फूल किसका प्रतीक है

हरा रंग सुख सम्पन्नता का प्रतीक होता है तो अगर आपको कोई हरा गुलाब दे तो वो आपकी संपन्नता की कामना करता है और आपको शुभकामनाएं दे रहा हैं।

काला गुलाब का मतलब

यू तो काला गुलाब भी बाजार में आसानी से मिलता नहीं है पर ऐसी मान्यता है कि जिनका कोई वेलेंटाइन नहीं होता वो शोक में काला गुलाब खरीद कर ही शोक मना लेते हैं। पश्चिमी सभ्यता में ऐसा प्रचलन है कि काला गुलाब दुश्मनी का प्रतीक भी माना जाता है क्योंकि काला रंग अंधकार, नकारात्मकता का प्रतीक है तो इस तरीके का गुलाब मिलना अच्छा नहीं माना जाता।

गुलाबी रंग का गुलाब

ये रंग तो मासूमियत और बचपने को दिखाता है तो अगर कोई गुलाबी रंग का गुलाब देना चाहे तो ये अच्छी दोस्ती के साथ अच्छी शुरुआत को प्रदर्शित करता है। ये आप अपने दोस्त और मंगेतर या किसी को भी दे सकते हैं।

सफेद गुलाब का फूल किसका प्रतीक है

सफेद रंग शांति, शुद्धता, निरा भाव का प्रतीक हैं। इसे आप किसी को भी दे सकते हैं। अगर कोई अपने रिश्ते की शुरुआत शांति और शुद्धता के साथ करता है तो उसके लिए ये गुलाब सबसे उत्तम रहेगा।


गुलाब के फूल के उपयोग और गुलाब के फूल के फायदे

अब जानते है कि गुलाब के फूल से क्या लाभ होता है? इससे जुड़े सारे रोचक तथ्य और जानकारी आज हम आपको देंगे।

गुलाब के फायदे और गुलाब के उपयोग

  • पूरी दुनिया में गुलाब की 1000 प्रजातियां है और गुलाब की खेती भी आय का अच्छा स्त्रोत हैं।
  • गुलाब से इत्र और गुलाब जल बनाया जाता है जो बाजार में बहुत बिकता हैं।
  • गुलाब का एक पौधे को उगाने के लिए कम से कम 13 liter पानी होना आवश्यक है। इससे कम पानी में पौधे मुरझा सकता हैं।
  • गुलाब का इतिहास कम से कम 1000 साल पुराना है।
  • मिस्र और रोम के लोगों को यह फूल बहुत प्रिय है। लोग इससे कमरे सजाने के लिए उपयोग में लाते थे साथ ही शोक प्रकट करने के लिए भी प्रयोग किया करते थे।
  • गुलाब की खेती सबसे ज्यादा जांबिया में होती है। वहां के लोग इसकी खेती पर काफी हद तक निर्भर हैं।
  • गुलाब के फूल से गुलकंद बनाया जाता है जो स्वाद में मीठा और स्वादिष्ट होता हैं।
  • गुलाब के पौधे में फल भी लगते है जो स्वाद में खट्टे होते है क्योंकि उनमें होता है विटामिन c जो हमारे सेहत के लिए काफी अच्छा और लाभकारी होता हैं।
  • गुलाब की महत्ता का पता इससे भी लगाया जा सकता है कि 14 अक्टूबर 1492 में जब कोलंबस ने अमेरिका की खोज गुलाब के फूल के कारण की उसने एक गुलाब के फूल की शाखा को समंदर में देखा और उसके अगले ही दिन अमेरिका की खोज भी कर ली थी।
  • ऐसा माना जाता है कि आज से 5000 साल पहले गुलाब की खेती एशिया महाद्वीप के देशों में की जाती थी।
  • भारत का सबसे बड़ा रोज गार्डन चंडीगढ़ में स्थित हैं। इसका नाम जाकिर हुसैन रोज गार्डन है जो यहां के पर्यटन को बढ़ने में न केवल मदद करता है बल्कि लोगों के आकर्षण का बहुत बड़ा केंद्र भी हैं। लोग इसे देखने दुनियाभर से आते हैं।
  • नीले रंग का गुलाब पहले अस्तित्व नहीं था पर 2009 में गुलाब पर शोध करने के परिणाम स्वरूप यह अब बाजारों में खरीदा बेचा जाता हैं।
  • प्राकृतिक रूप से काला गुलाब अस्तित्व नहीं था पर काला गुलाब आकर्षक लगता है इसलिए रसायन के प्रयोग से यह गुलाब बनाया जाता हैं।
  • Rose Day हर साल 7 फरवरी को ही मनाया जाता है जो वेलेंटाइन वीक की शुरुआत जोर दार तरीके से करता हैं।
  • गाने चाहे हिंदी हो, अंग्रेजी हो किसी भी भाषा में गाए जाने वाले गानों में गुलाब का जिक्र अन्य किसी फूल से अधिक होता हैं। किसी की खूबसूरती का बखान करना हो तो गुलाब का ही उदाहरण लिया जाता हैं।
  • गुलाब हजारों सालों से प्यार, आकर्षण, सहानुभूति और सौहार्द के रंग के रूप में अपनी सुंदर छवि बनाए हुए हैं।
  • गुलाब का फूल खाली पेट खाए तो ये आपके पेट से संबंधित बीमारियों को दूर कर सकता हैं।
  • गुलाब के फूल की खेती सितंबर से अक्टूबर के बीच होती है और इसे उगने के लिए पर्याप्त पानी होना आवश्यक है। शायद इसीलिए गुलाब की खेती करने वाले देश ऐसे स्थानों में है जहां पानी की मात्रा ज्यादा हैं।
  • भारत में भारत सरकार द्वारा 12 फरवरी को ”गुलाब दिवस” के रूप में घोषित किया गया हैं।
  • गुलाब को “शतपत्री “और “पाटलि” भी कहा जाता है।
  • गुलाब की पंखुड़ियों को पीस कर अगर अपने चेहरे पर लगाया जाए तो चेहरा पर निखार आता है और चेहरा चमकने लगता है। चेहरे के बैक्टीरिया खत्म और चेहरा चमकने लगता है।
  • गुलाब की खेती से आर्थिक लाभ भी बहुत है। मंदिरों, पूजास्थलों मंडप समारोह आदि में इनकी खपत बहुत ज्यादा है और इनकी मांग बाजार में बहुत हैं। ये छोटे व्यापारियों और किसानों की आर्थिक स्तिथि को भी मजबूत करने में सहायता करते हैं।

निष्कर्ष

आशा है आपको Rose Day Kab Hai, कैसे मनाया जाता है और गुलाब के प्रकार इत्यादि कि जानकारी मिल गई होगी। अगर लेख से संबंधित आपके मन में प्रश्न है तो आप कमेंट के मध्यम से पूछ सकते हैं। धन्यवाद

1 thought on “Rose Day 2022 Kab Hai: रोज डे कब है? शायरी स्टेटस, यहां पढ़ें”

Leave a Comment

close