Advertisement
Advertisement

शिवरात्रि के टोटके जिससे जिंदगी बदल जाएगी

Advertisement

शिवरात्रि के टोटके, शिवरात्रि के दिन बस शिवलिंग को अपनी हथेलियों से रगड़े फिर देखे चमत्कार।

आज मैं आपको एक ऐसा अचूक उपाय बताने जा रहा हूँ जो आपकी किस्मत बदल सकता हैं, वैसे तो आप सभी को पता ही है कि 11 मार्च 2021 के दिन महाशिवरात्रि हैं, और इस दिन विशेष रूप से शिवजी की पूजा का बहुत बड़ा महत्व हैं। और एक जरूरी बात, आज मैं आपको शिवजी के छोटे-छोटे उपाय बताऊंगा जिससे आपका दुर्भाग्य दूर हो जाएगा और भाग्य का साथ मिलने लगेगा।

शिवरात्रि के टोटके उपाय

Original Shivling Images
Shivling

भले ही कोई व्यक्ति वर्ष भर में कोई व्रत नहीं रखता हो, लेकिन युगों युगों से यह मान्यता रही है कि फाल्गुन महीने की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी पर महाशिवरात्री के दिन जो भी भक्त सच्चे दिल से भगवान भोलेनाथ की आराधना हेतु उपवास रखता है तो उसे मात्र महाशिवरात्रि के व्रत रखने से वर्ष भर के सभी व्रतों का फल मिल जाता है। अतः भगवान शिव पर विश्वास रखने वाला प्रत्येक व्यक्ति इस दिन उपवास कर भगवान भोलेनाथ का पूजन करता है।

Advertisement

माना जाता है भगवान शिव बेहद भोले हैं। वह अपने प्रत्येक भक्तों की परेशानियों को समझ कर उन्हें दूर कर उनपर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखते हैं। लेकिन वे जितने भोले हैं, अगर उन्हें क्रोध आ जाए तो वे उतने ही विनाशकारी हो जाते हैं। इसलिए माना जाता है इस पृथ्वी पर जिस दिन भगवान भोलेनाथ की तीसरी आंख खुल गई, उस दिन पृथ्वी का अंत होना तय होगा। देश के कई स्थानों में माना जाता है इसी दिन ब्रह्मा जी के एक अंश के रूप में शिव लिंग से भगवान शिव प्रकट हुए थे। वही कई जगह यह भी मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव और मां पार्वती का विवाह हुआ था। अतः देश भर में बड़ी धूमधाम से मनाए जाने वाला महाशिवरात्रि का पर्व सांस्कृतिक और धार्मिक दृष्टि से भारत के सबसे बड़े पर्वों में से एक है।

Maha Shivratri Ke Totke

  1. हमेशा पारद से बने छोटे शिवलिंग की पूजा करें क्योंकि पारद शिवलिंग बहुत चमत्कारी होता है। ऐसा करने से आपको बहुत जल्दी सफलता मिल जाएगी।
  2. एक बात का आप जरूर ध्यान दे। पके हुए चावलों से शिवलिंग का श्रृंगार करें और फिर पूजा करें। ऐसा करने से मंगल दोष शांत होता हैं.
  3. हमेशा शिवलिंग पर चमेली के फूल और शिव मंत्र ॐ नम: शिवाय का जाप करने से मन चाही गाड़ी की प्राप्ति होती है। एक बात का ध्यान रखें की जल चढ़ाते समय हथेलियों से शिवलिंग को रगड़े क्योंकि ऐसा करने से आपकी किस्मत बदल सकती हैं।
  4. केसर में मिला हुआ जल शिवलिंग पर चढ़ाए, ऐसा करने से विवाह और वैवाहिक जीवन से जुड़ीं सभी समस्याएं दूर हो जायेंगी।
  5. अपने शनि दोष और रोग करने के लिए शिवलिंग पर जल चढ़ाते समय उसमें काले तिल, डेली पानी में दूध, काले तिल मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाने से बीमारियों से छुटकारा मिलता हैं।
  6. आपको शिवलिंग पर रोज दूर्वा चढ़ाने से लम्बी उम्र की प्राप्ति होती है। ऐसा करने से गणेशजी भी प्रसन्न होते है और घर में सुख- समृद्धि भी बढ़ती हैं.
  7. कभी-कभी शिवजी के निमित्त सवा किलो या 11 किलो चावल या गेहूं का दान करें।
  8. हमेशा शिवलिंग पर रोज चावल चढ़ाने से लक्ष्मी की स्थाई कृपा मिलती है।

महाशिवरात्रि 2021 में करें ये 10 उपाय किस्मत चमक जाएगी

👉 शिवरात्रि के मौके पर यदि विधि विधान से भगवान शिव का पूजन किया जाए, तो वह प्रसन्न होकर भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

👉 इस दिन गरीबों, असहाय, दीन दुखियों को भोजन कराने वालों पर भगवान भोलेनाथ अत्यंत प्रसन्न होते हैं। माना जाता है ऐसा करने से घर में कभी भी भोजन की कमी नहीं रहती, और पितरों की भी आत्मा को सुकून मिलता है।

👉 जल में कुछ तिल डालकर शिवलिंग का जलाभिषेक करें और मन ही मन ॐ नमः शिवाय का उच्चारण करें इससे मन को असीम शांति मिलती है।

👉 इस दिन माना जाता है घरों में आटे के 11 शिवलिंग बनाने चाहिए और उन 11 शिवलिंगों में जलाभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने पर घर में संतान प्राप्ति के योग में वृद्धि होती है।

👉 शिवरात्रि के मौके पर भगवान शिव के वाहन नंदी बैल को हरा चारा खिलाने से घर में सुख शांति समृद्धि आती है। अतः आप शिवरात्रि के दिन ये उपाय भी अपना सकते हैं।

👉 मान्यता है इस दिन भगवान शिव को तिल और जौ जरूर अर्पित करने चाहिए। तिल से जहां कष्टों से मुक्ति मिलती है, वही जौ से घर में सुख समृद्धि आती है

👉 महाशिवरात्रि के मौके पर 101 बार शिवलिंग का जलाभिषेक करें। चाय के दौरान ॐ हौं जूं सः, ॐ भूर्भुवः स्वः जैसे मंत्रों का जाप करते रहें। ऐसा करने पर रोगी की बीमारी दूर होने में मदद मिलती है।

👉 साथ ही इस दिन बिल्वपत्र यानी बेल की पत्तियों पर चंदन से ओम नमः शिवाय लिखकर भगवान शिव को अर्पित करने से भगवान बेहद प्रसन्न होते हैं। इससे आपकी मनोकामनाएं पूर्ण हो सकती हैं।

👉 अगर काफी कोशिशों के बावजूद भी विवाह के लिए सही वर या वधु नहीं मिल रहा है। तो इस बाधा को दूर करने हेतु आप शिवलिंग दूध में केसर डालकर भगवान शिव को अर्पित कर सकते हैं। ऐसा करने से जल्दी ही विवाह के योग बनते हैं।

👉 शिवरात्रि के मौके पर मछलियों को आटे की गोलियां खिलाना भी शुभ माना जाता है, इस प्रक्रिया के दौरान आप भगवान शिव का ध्यान करते हैं तो धन की प्राप्ति होने के अवसर बढ़ते हैं।


व्यापार में उन्नति के लिए अचूक टोटका

यदि आप कर्ज में डूबे हुए है और आप कर्ज से मुक्ति पाना चाहते है तो आप इस सावन शिवरात्रि पर हमारे बताये हुए कर्ज मुक्ति के सरल उपाय के अनुसार पूजा विधि करें, आपकी कर्ज से मुक्ति हो जायेगी। वैसे तो शिवजी के कई टोटके है जिसका जाप करके आपकी जिंदगी में काफी बदलाव आएंगे। कर्ज से मुक्ति पाने के उपाय और टोटके को पढ़ना आरंभ करते है और इन सभी बातों को अच्छे से अपनाते हैं।

व्यापार व कारोबार में वृद्धि के लिए करें ये उपाय

अगर आपको यह सभी उपाय पसंद आये तो इन टोटके को आप अपने सभी दोस्तों के साथ फेसबुक, ट्विटर, और व्हाट्सएप पर शेयर करें।

Karj Mukti Ke Upay | कर्ज मुक्ति के उपाय | कर्ज मुक्ति मंत्र

  1. शिवजी के साथ देवराज इंद्र का पूजन करें।
  2. रुद्र सूक्त का पाठ करें।
  3. तिल में घी, गुरूच, चावल, शक्कर मिलाकर शाम को हवन करें।
  4. तिल मिश्रित खीर का भोग लगाकर भक्तों में बाटें।
  5. नमक, लोहा, तेल, उड़द, सोंठ, काली मिर्च, फल, सफेद चंदन का दान जरूर करें।
  6. पान चढ़ाने से कर्ज से आपको मुक्ति जरूर मिलेगी।
  7. जल में इत्र मिलाकर भगवन शिव का अभिषेक करें।
  8. केला, अनार अर्पित करें।
  9. दही से भगवान शिव का अभिषेक करें, दही युक्त भोजन ग्रहण करें।
  10. हो सके तो ब्राह्मण स्त्री को सुहाग सामग्री आप भेट भेंट करें।

यदि आप इनमें से कर्ज उतारने के उपाय कर लेते है, या कोई भी पूजा विधि कर लेते है तो आप देखेंगे की इस Sawan Shivratri से ही आपको कर्ज से मुक्ति मिलना शुरू हो जाएगी और भगवान शंकर आपको कर्ज से मुक्त कर देंगे।


ॐ श्री रूद्र सूक्त मंत्र: Rudra Sukta in Hindi

ॐ नमस्ते रुद्र मन्यवऽ उतोतऽ इषवे नमः। बाहुभ्याम् उत ते नमः॥1॥ 
या ते रुद्र शिवा तनूर-घोरा ऽपाप-काशिनी। तया नस्तन्वा शन्तमया गिरिशंताभि चाकशीहि ॥2॥ 
यामिषुं गिरिशंत हस्ते बिभर्ष्यस्तवे । शिवां गिरित्र तां कुरु मा हिन्सीः पुरुषं जगत् ॥3॥ 
शिवेन वचसा त्वा गिरिशाच्छा वदामसि । यथा नः सर्वमिज् जगद-यक्ष्मम् सुमनाऽ असत् ॥4॥ 
अध्य वोचद-धिवक्ता प्रथमो दैव्यो भिषक् । अहींश्च सर्वान जम्भयन्त् सर्वांश्च यातु-धान्यो ऽधराचीः परा सुव ॥5॥ 
असौ यस्ताम्रोऽ अरुणऽ उत बभ्रुः सुमंगलः। ये चैनम् रुद्राऽ अभितो दिक्षु श्रिताः सहस्रशो ऽवैषाम् हेड ऽईमहे ॥6॥ 
असौ यो ऽवसर्पति नीलग्रीवो विलोहितः। उतैनं गोपाऽ अदृश्रन्न् दृश्रन्नु-दहारयः स दृष्टो मृडयाति नः ॥7॥ 
नमोऽस्तु नीलग्रीवाय सहस्राक्षाय मीढुषे। अथो येऽ अस्य सत्वानो ऽहं तेभ्यो ऽकरम् नमः ॥8॥ 
प्रमुंच धन्वनः त्वम् उभयोर आरत्न्योर ज्याम्। याश्च ते हस्तऽ इषवः परा ता भगवो वप ॥9॥ 
विज्यं धनुः कपर्द्दिनो विशल्यो बाणवान्ऽ उत। अनेशन्नस्य याऽ इषवऽ आभुरस्य निषंगधिः॥10॥ 
या ते हेतिर मीढुष्टम हस्ते बभूव ते धनुः । तया अस्मान् विश्वतः त्वम् अयक्ष्मया परि भुज ॥11॥ 
परि ते धन्वनो हेतिर अस्मान् वृणक्तु विश्वतः। अथो यऽ इषुधिः तवारेऽ अस्मन् नि-धेहि तम् ॥12॥ 
अवतत्य धनुष्ट्वम् सहस्राक्ष शतेषुधे। निशीर्य्य शल्यानां मुखा शिवो नः सुमना भव ॥13॥ 
नमस्तऽ आयुधाय अनातताय धृष्णवे। उभाभ्याम् उत ते नमो बाहुभ्यां तव धन्वने ॥14॥ 
मा नो महान्तम् उत मा नोऽ अर्भकं मा नऽ उक्षन्तम् उत मा नऽ उक्षितम्। मा नो वधीः पितरं मोत मातरं मा नः प्रियास् तन्वो रूद्र रीरिषः॥15॥ 
मा नस्तोके तनये मा नऽ आयुषि मा नो गोषु मा नोऽ अश्वेषु रीरिषः। मा नो वीरान् रूद्र भामिनो वधिर हविष्मन्तः सदमित् त्वा हवामहे॥16॥


सावन शिवरात्रि में व्यापार व कारोबार में वृद्धि के लिए उपाय

यदि आप अपने व्यापार में उन्नति चाहते है, आपके व्यापार में उन्नति नहीं हो रही है और आप अपने व्यापार में वृद्धि पाना चाहते हो तो आप इस सावन शिवरात्रि के दिन हमारे बताये हुए व्यापार में उन्नति के लिए कर्ज मुक्ति रामबाण उपाय टोटके को करिये भगवान शंकर आपके व्यापार में उन्नति प्रदान करेंगे।

  • दूध से भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • शुक्ल यर्जुवेर्दी अष्टध्यायी का एक बार पाठ जरुर करें।
  • चांदी का चंद्रमा शिव जी को चढ़ाकर गले में धारण करें।
  • वस्त्र, यज्ञोपवीत भगवान शिव को चढ़ाये।
  • घी मिश्रित खीर का भोग लगाकर भक्तों में बांटे।
  • जल में दूध, तिल मिलाकर भगवान शिव का अभिषेक करें।
  • तुलसी के 108 दल से भगवान शिव का पूजन करें।
  • गेहूं, गुड़ मिश्रित भोजन का सेवन करें, नमक से परहेज करें।
  • शिव चालीसा का 40 बार पाठ करें।
  • व्यापार में उन्नति पाने के लिए निम्बू के 4 टुकड़े करके व्यापार स्थल पर चारों दिशाओं में दबा दें। आपके व्यापार में अथा उन्नति होगी।
महाशिवरात्रि व्रत शुभ मुहूर्त 2021

इस नए साल के आगमन के बाद महाशिवरात्रि आने में अब कुछ ही दिन शेष हैं। अतः भोलेनाथ के भक्तजनों को महाशिवरात्रि का बेसब्री से इंतजार है। आइए 2021 में महाशिवरात्रि पर्व के शुभ मुहूर्त के बारे में जानते हैं। 2021 महाशिवरात्रि की पावन बेला का प्रारंभ मार्च 11, 2021 को दोपहर 2:39 से है, वहीं मार्च 12, 2021 को 3: बजकर 2 मिनट में चतुर्दशी तिथि समाप्त हो रहा है।

12 मार्च को शिवरात्रि पारण समय – प्रातः 6:34 से 3:02 तक होगा।

वही महाशिवरात्रि के चारों प्रहर पूजा का समय इस प्रकार है।

  • रात्रि की प्रथम प्रहर पूजा समय 11 मार्च को शाम 6:27 से 9:29 तक होगा।
  • रात्रि द्वितीय प्रहर पूजा समय – रात्रि 9:29 से 00:31 तक।
  • फिर 12 मार्च की रात्रि में तृतीय प्रहर पूजा का समय – 00:31 से 03:32 है।
  • और चतुर्थ प्रहर पूजा समय – 03:32 से सुबह 06:34 तक होगा।

तो अब इंतजार है इस पावन पर्व का जिस दिन भक्त पृथ्वी के कण-कण में बसने वाले भगवान भोलेनाथ की भक्ति में लीन होते हैं। वैसे तो भाव के भूखे होने की वजह से भगवान शिव अपने उन भक्तों पर कृपा रखते हैं जो उन्हें सच्चे मन से सिर्फ याद कर लेते है। परंतु महाशिवरात्रि के इस पावन पर्व पर रुद्राभिषेक को सबसे महत्वपूर्ण पूजन विधि माना जाता है। इस दिन साफ जल या गंगा जल से शिवलिंग पर जल चढ़ाना बेहद जरूरी माना जाता है। हर हर महादेव

– शिवरात्रि के टोटके और शिवरात्रि के उपाय

Recent Articles

Related Stories

3 Comments

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here