Advertisement
निबंध

मेरा विद्यालय पर 10 लाइन का निबंध

मेरा विद्यालय पर 10 लाइन का निबंध
Written by Himanshu Grewal

नमस्ते, 10Lines.co में आज हम बच्चों के लिए मेरा विद्यालय पर 10 लाइन का निबंध अर्थात “in English, 10 Lines on my School in Hindi” लेकर आए है तो लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पूरा पढ़ें और My School 10 Lines in Hindi, My School Essay in Hindi, मेरा विद्यालय पर निबंध और मेरा विद्यालय का महत्व क्या है इसकी जानकारी प्राप्त करें जिससे आपके ज्ञान का दीपक जल सके।

मेरा विद्यालय पर 10 लाइन निबंध

जब बच्चे निबंध लिखना शुरू करते हैं तब उन्हें छोटे-छोटे विषयों पर निबंध लिखने के लिए कहा जाता है। अकसर कक्षा 1 हो या कक्षा 5 किसी भी कक्षा के छात्रों को मेरा विद्यालय पर निबंध लिखने के लिए कहा जा सकता है लेकिन जिस तरह कक्षा अ का बच्चा निबंध लिखेगा उस तरह कक्षा 5 का नहीं लिख सकता है। क्योंकि जैसे-जैसे कक्षा बढ़ती जाती है वैसे-वैसे बच्चों को अच्छा निबंध लिखने की कला भी आनी चाहिए लेकिन छोटे बच्चों के लिए इस तरह के विषयों पर निबंध लिखना बहुत मुश्किल होता है।

यही कारण है कि इस लेख में हमने विद्यालय पर 10 पंक्तियां लिखने की कोशिश की है ताकि अगर आप से मेरा विद्यालय पर 10 वाक्य निबंध लिखने को कहा जाए तो आप आसानी से उस निबंध को लिख सके। हमने निबंध लिखने के लिए अलग-अलग लाइन का प्रयोग इसलिए किया है ताकि आप सभी लाइन को एक साथ जोड़ कर एक अच्छा सा निबंध लिख सके।


विद्यालय का अर्थ क्या है?

विद्यालय का अगर सामान्य अर्थ निकाला जाए तो इसका मतलब एक ऐसा स्थान होता है, जहां पर विद्या ग्रहण की जाती है। विद्यालय को अंग्रेजी भाषा में स्कूल या फिर इंस्टीट्यूट कहा जाता है। विद्यालय में पढ़ाने के लिए विभिन्न प्रकार के टीचर होते है और जो व्यक्ति विद्यालय के सारे कार्यभार को देखता है, उसे विद्यालय का प्रिंसिपल या फिर मुख्य कार्यवाहक अधिकारी कहा जाता है।

बता दें कि स्कूल शब्द की उत्पत्ति ग्रीक शब्द से हुई है। ग्रीक में एक शब्द SKHOLE है और इसी शब्द से स्कूल शब्द की उत्पत्ति हुई।

वर्तमान के समय में विद्यालय एक सामाजिक संस्था के तौर पर काम कर रहा है, जहां पर बालक अपने कौशल, अपनी कैपेसिटी, अपने इंटरेस्ट, अपने रुझान और अपनी योग्यता के हिसाब से अपना डेवलपमेंट करता है। विद्यालय में पढ़ने के लिए विद्यार्थियों को अपना एडमिशन कराना पड़ता है और इसके बाद ही उनकी शिक्षा चालू होती है और उन्हें पढ़ाने वाले शिक्षकों को फीस के तौर पर जो विद्यार्थी पैसे देते हैं, उन्हीं में से सैलरी दी जाती है।


(SET 1) » My School Essay in Hindi 10 Lines for Class 1

  1. 👉 मेरा स्कूल शहर के सबसे लोकप्रिय और बड़े स्कूलों में से एक है।
  2. 👉 मेरे विद्यालय का भवन बहुत विशाल और सुन्दर है, बच्चे वहां दौड़ते रहते हैं।
  3. 👉 मेरे विद्यालय में एक विशाल खेल का मैदान है जहाँ मैं विभिन्न प्रकार के बाहरी खेल खेल सकता हूँ।
  4. 👉 हम अपने स्कूल में स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्रता दिवस जैसे सभी राष्ट्रीय समारोह बहुत धूमधाम से मनाते हैं।
  5. 👉 मेरे स्कूल में एक बहुत बड़ा पुस्तकालय है जहाँ हम किताबें पढ़ सकते हैं।
  6. 👉 मेरा विद्यालय सप्ताह में एक बार शारीरिक शिक्षा की कक्षाएं आयोजित की जाती है।
  7. 👉 मेरे स्कूल में एक विज्ञान प्रयोगशाला है जो अच्छी तरह से सुसज्जित है।
  8. 👉 मेरे स्कूल में मेरे कई दोस्त हैं जहाँ हम साथ पढ़ते और खेलते हैं।
  9. 👉 मेरे स्कूल के शिक्षक बहुत दयालु हैं और सभी का ख्याल रखते हैं।
  10. 👉 मुझे स्कूल जाना अच्छा लगता है क्योंकि मैं हर दिन नई चीजें सीखता हूं।

अगर आपको कोई प्रश्न पूछना है तो आप कमेंट के मध्यम से अपना प्रश्न पूछ सकते है और अगर आपको जानकारी पसंद आए तो इस जानकारी को अन्य छात्रों के साथ साझा जरूर करें।


(SET 2) » Essay on Mera Vidyalaya in Hindi 10 Lines

» मेरा विद्यालय पर 10 लाइन (सेट 2)

  1. 👉 मेरे विद्यालय का नाम सेंट मैरी डे स्कूल (आप अपने विद्यालय का नाम लिखे) है, मेरा स्कूल एक अंग्रेजी मीडियम स्कूल है।
  2. 👉 मेरा विद्यालय उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर में स्थित है।
  3. 👉 मेरे विद्यालय का कैंपस बहुत बड़ा है और इसके चारों तरफ हरे भरे पेड़ पौधे लगाए हुए हैं जो देखने में बहुत ही सुंदर लगता है।
  4. 👉 मेरे विद्यालय में बहुत से शिक्षक और शिक्षिका आए हैं जो हमें बहुत ही अच्छे से पढ़ाते हैं।
  5. 👉 मेरे विद्यालय में अनुशासन और समय की पाबंदी को सबसे ऊपर रखा जाता है। यही कारण है कि मेरे विद्यालय के सभी बच्चे बहुत ही अनुशासित हैं।
  6. 👉 हमारे विद्यालय में एक स्टाफ रूम, पुस्तकालय, कंप्यूटर लैब और रसायन लैब भी है।
  7. 👉 मेरा विद्यालय co-edu को बढ़ावा देता है जिसके कारण मेरे विद्यालय में लड़की और लड़कियां दोनों साथ में पढ़ते हैं।
  8. 👉 मेरे विद्यालय में करीब 800 बच्चे पढ़ते हैं।
  9. 👉 मेरे विद्यालय में 1 से लेकर 10 वी कक्षा के बच्चों को पढ़ाया जाता है।
  10. 👉 मेरा विद्यालय मुझे बहुत पसंद है और मैं कभी भी स्कूल जाने से मना नहीं करता हूं।

आशा करता हूँ कि स्कूल के बारे में 10 लाइन हिंदी में पढ़ कर आपको सारी जानकारी मिल गई होगी। मेरे विद्यालय पर निबंध 10 लाइन अभी खत्म नहीं हुआ है, नीचे और भी स्कूल पर 10 वाक्य पढ़ने को मिलेंगे।

grammarly

(SET 3) » Mera Vidyalaya Nibandh 10 Line

  1. 👉 मेरा स्कूल शहर के कुछ बेहतरीन स्कूलों में से एक है।
  2. 👉 पश्चिम बंगाल के कोलकाता में स्थित हमारा विद्यापीठ स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में हमेशा पहले आता है।
  3. 👉 मेरा स्कूल तीन मंजिला ऊंचा है लेकिन इसमें साफ सफाई का बेहद ख्याल रखा जाता है।
  4. 👉 मेरे स्कूल में पढ़ाई के साथ-साथ अन्य सामाजिक और सांस्कृतिक गतिविधियाँ भी आयोजित होती रहती हैं।
  5. 👉 मेरे स्कूल के सामने कई सारे पेड़ पौधे उगाए गए हैं जिससे वहां का वातावरण बहुत ही स्वच्छ रहता है।
  6. 👉 मेरे स्कूल का यूनिफार्म में स्काई ब्लू शर्ट और डीप ब्लू पैंट है।
  7. 👉 शिक्षा के साथ-साथ हमारे स्कूल में बच्चों को नैतिकता भी सिखाया जाता है।
  8. 👉 हमारे स्कूल में शिक्षक बच्चों के साथ घुलमिल कर पढ़ाते हैं।
  9. 👉 पढ़ाई के साथ-साथ बीच-बीच में बच्चों को खेल भी कराया जाता है।
  10. 👉 सभी बच्चों को स्कूल जाना बहुत ही ज्यादा अच्छा लगता है।

(SET 4) » मेरा विद्यालय पर 10 लाइन हिंदी में

  1. 👉 मेरा स्कूल मेरे घर से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर है।
  2. 👉 मेरा विद्यालय मेरे दूसरे घर के समान है, जहाँ मेरे शिक्षक मेरे अभिभावक हैं।
  3. 👉 मुझे अपने स्कूल में रहना इतना अच्छा लगता है कि मैं छुट्टियों में भी जाना पसंद करूँगा।
  4. 👉 मेरे स्कूल में खेलने और पाठ्येतर गतिविधियों के लिए पर्याप्त जगह है।
  5. 👉 मेरे विद्यालय के शिक्षक और कर्मचारी बहुत सहयोगी हैं और छात्रों की देखभाल करते हैं।
  6. 👉 मेरे स्कूल में जूनियर, मिडिल और सीनियर सेक्शन के लिए अलग-अलग फ्लोर हैं।
  7. 👉 मेरा विद्यालय गर्मी की छुट्टियों से पहले वार्षिक समारोह और खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन करता है।
  8. 👉 मेरे विद्यालय का लक्ष्य प्रत्येक छात्र में से सर्वश्रेष्ठ निकालना है।
  9. 👉 मेरे स्कूल ने व्यक्तिपरक ज्ञान के अलावा मेरे कौशल का भी विकास किया है।
  10. 👉 मेरे स्कूल में मैंने बहुत सारे दोस्त बनाए हैं।

विद्यालय पर लिखी गई इन 10 पंक्तियों (Mera Vidyalaya Essay in Hindi) का अध्ययन करने के बाद अब हम विद्यालय पर निबंध पढ़ते हैं। स्कूल पर निबंध में आपको मेरे स्कूल के बारे में बहुत सी बातें जानने को मिलेगी।


Essay on School in Hindi

प्रस्तावना

स्कूल एक ऐसी जगह होती है जहां हम पढ़ना लिखना शुरू करते है, इसी जगह पर हमारी नींव रखी जाती है। हम बड़े होकर कैसे व्यक्ति बनेंगे किस तरह से समाज का कल्याण करेंगे उन सभी चीजों की शुरुआत स्कूल के दिनों में ही हो जाती हैं। बचपन से हमें स्कूल में कैसे आचरण करना चाहिए यही सिखाया जाता है।

व्यक्ति के जीवन में विद्यालय की भूमिका

मेरा स्कूल मेरे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान रखता है। मैं अपने स्कूल के विषय में जो भी कहूं वह मेरे लिए कम ही पड़ जाता है क्योंकि यह एक छात्र के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्थान है और यह हमें नई चीजें सीखने में मदद करता है।

स्कूल में हमारे जो शिक्षक होते है वह हमें नई नई चीजें सिखाते है और जब हम गलती करते है तो हमारे शिक्षक हमें सही बातें सिखाते हैं। यही कारण है कि स्कूल को सबसे ऊपर रखा जाता है और सभी बच्चों को यही सिखाया जाता है कि उन्हें स्कूल हमेशा जाना चाहिए।

बच्चों को यह भी सिखाया जाता है कि रोजाना स्कूल जाना चाहिए क्योंकि अगर कोई रोजाना स्कूल नहीं जाता तो वह कक्षा में बताई जा रही बातों पर ध्यान नहीं दे पाएगा और इस समस्या से बचने के लिए रोजाना स्कूल जाने में ही समझदारी है जो बच्चे रोज स्कूल जाते है वही हमेशा अच्छे नंबर लाते हैं।

स्कूल में केवल किताबी बातें ही नहीं सिखाई जाती बल्कि यह भी सिखाया जाता है कि अच्छी संगति कैसे बनाई जाती है और समय का पाबंद कैसे बना जाता है! स्कूल में बच्चों को सिखाया जाता है कि अच्छे से आचरण करने से क्या होता है और खराब आचरण करने वालों के साथ क्या होता है। स्कूल ही पहली जगह होती है जहां हम बहुत से बच्चों से मिलते है और बातचीत करना शुरू करते है तो समाज में किस तरह से रहना चाहिए। सबसे बड़ा सबक हमें स्कूल ही सिखाता है।

स्कूल हमें एक बेहतर इंसान बनाता है और हमें इस योग्य बनाता है कि हम अपने से बड़ों के सामने खुद को बेहतर ढंग से पेश कर सके।

गुरु का महत्व

हम जो खुद ही सीखते है वह हमारे शिक्षकों की दी गई शिक्षा के कारण ही मुमकिन हो पाता है क्योंकि अगर वह शिक्षा नहीं देंगे तो हम कभी भी ज्ञान अर्जित नहीं कर सकते हैं। बच्चे की ज्ञान को अर्जित करने की कला भी शिक्षक ने उन्हें सिखाते हैं। यही कारण है कि शिक्षा प्राप्ति में जितना बच्चे की भूमिका होती है उतनी ही भूमिका एक शिक्षक की भी होती है।

एक अच्छा शिक्षक एक छात्र का जीवन सफल बनाने और उसे एक अच्छा इंसान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यही कारण है कि मां बाप हमेशा बच्चों के बुनियादी स्कूल को ध्यान से सुनते है ताकि उन्हें अच्छी शिक्षा प्राप्त हो सके। ‌ क्योंकि अगर बुनियादी अच्छी नहीं होगी तो आगे चलकर बिल्डिंग की नींव डगमगाने लगेगी।

उपसंहार

मैंने बचपन से ही अपने स्कूल में पढ़ाई की है और अब मेरे स्कूल में मेरे बहुत सारे दोस्त बन गए हैं साथ ही साथ मेरे शिक्षकों के साथ भी काफी अच्छी बातचीत होती है और मैं रोजाना स्कूल जाता हूं जिससे मेरी पढ़ाई हमेशा अपडेट रहती है। मैं हमेशा होमवर्क करके जाता हूं जिससे मेरे शिक्षक हमेशा मुझसे खुश रहते हैं। मुझे मेरा स्कूल बहुत पसंद है इसीलिए मैं अपने स्कूल को अपना दूसरा घर मानता हूं।


विद्यालय के प्रकार क्या हैं?

विद्यालय यानी की स्कूल विभिन्न प्रकार के होते है और यह विभिन्नता उनके ढांचे, मैनेजमेंट, स्वरूप, उद्देश्य के आधार पर होती है।

1: केन्द्रीय विद्यालय

केंद्रीय विद्यालय का संचालन ऑल इंडिया लेवल पर किया जाता है और केंद्रीय विद्यालय में समान सिलेबस, समान लेवल पर संचालित होते है जिसे केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा मान्यता प्राप्त होती है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को अंग्रेजी भाषा में सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) कहा जाता है।

2: सरकारी विद्यालय

सरकारी विद्यालय को अंग्रेजी में गवर्नमेंट स्कूल (Government School) कहां जाता है, जहां पर विद्यार्थियों को आसान एजुकेशन उपलब्ध करवाने के उद्देश्य के लिए हर 40 विद्यार्थी पर एक स्कूल को चलाने की योजना होती है और वर्तमान के समय में इंडिया के अधिकतर गांव में इस प्रकार के स्कूल चलाए जाते हैं।

इस प्रकार के स्कूल को गवर्नमेंट के द्वारा आर्थिक सहायता भी दी जाती है, साथ ही इस प्रकार के स्कूल में मिड डे मील योजना का संचालन भी होता है और इस प्रकार के स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को गवर्नमेंट की तरफ से स्कॉलरशिप भी दी जाती है जिसे की वजीफा कहा जाता है। गवर्नमेंट स्कूल स्टेट गवर्नमेंट के एजुकेशन डिपार्टमेंट के द्वारा संचालित होते है और इन्हें माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा मान्यता प्राप्त होती है।

3: नवोदय विद्यालय

नवोदय विद्यालय सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा सर्टिफाइड होते है और इस विद्यालय में होनहार विद्यार्थियों को पढ़ने का मौका दिया जाता है और उन्हें रहने के लिए बिल्कुल निशुल्क आवास, भोजन और एजुकेशन की व्यवस्था दी जाती है। इसे भी केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा मान्यता प्राप्त होती है।

4: निजी विद्यालय

निजी विद्यालय को प्राइवेट विद्यालय कहा जाता है जिसे किसी प्राइवेट व्यक्ति के द्वारा संचालित किया जाता है। इस विद्यालय में जो टीचर होते है उन्हें कितनी सैलरी मिलेगी, इस बात का निर्णय विद्यालय का प्रशासन ही करता है। कुछ निजी विद्यालय केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा सर्टिफाइड होते है तो कुछ माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के द्वारा सर्टिफाइड होते हैं। वर्तमान के समय में निजी विद्यालय में विद्यार्थियों की संख्या ज्यादा है। गवर्नमेंट विद्यालय की तुलना में निजी विद्यालय में महीने की फीस ज्यादा होती है।

5: संस्कृत विद्यालय

संस्कृत विद्यालय में अधिकतर हिंदू समुदाय के विद्यार्थी अध्ययन करते है। इनमें उन्हें आधुनिक शिक्षा भी दी जाती है साथ ही पूजा, प्रार्थना, मंत्र और वेदों की शिक्षा भी दी जाती है और मुख्य तौर पर इस प्रकार के विद्यालय में पढ़ाई का माध्यम संस्कृत भाषा ही होती है।

6: मिशनरीज स्कूल

इस प्रकार के विद्यालय के कर्ताधर्ता क्रिश्चियन समुदाय के लोग होते है जिसे सीबीएसई बोर्ड के द्वारा मान्यता प्राप्त हुई होती है। इस प्रकार के विद्यालय में ईसाई धर्म का ज्यादा इफेक्ट देखा जाता है।

7: आर्मी वेलफेयर सोसायटी द्वारा संचालित विद्यालय

इंडिया का डिफेंस डिपार्टमेंट इस प्रकार के स्कूल का मैनेजमेंट करता है और इस प्रकार के विद्यालय की देखरेख आर्मी के ऑफिसर करते हैं।

8: मिलट्री स्कूल

इंडिया के डिफेंस मिनिस्ट्री के द्वारा ही इस प्रकार के स्कूल को संचालित किया जाता है।

9: मदरसे

मुसलमान समुदाय के लोगों को यहां पर धार्मिक एजुकेशन मिलती है जिसमें उन्हें मौलाना पढ़ाते हैं।

10: आदर्श विद्या मंदिर

मुख्य तौर पर इस प्रकार के विद्यालय में हिंदी भाषा पर जोर दिया जाता है और विद्या भारती के द्वारा इसे संचालित किया जाता है। इसके अलावा आर्य समाज विद्यालय, बौद्ध मठ, चल विद्यालय है।


निष्कर्ष

तो साथियों मेरा विद्यालय पर 10 लाइन का निबंध (My School Essay in Hindi 10 Lines) आपको कैसा लगा? हमें कमेंट के माध्यम से जरूर अवगत कराएं। साथ ही जानकारी को दूसरों के साथ भी अवश्य शेयर करें।

About the author

Himanshu Grewal

10Lines.co एक हिंदी ब्लॉग है, यहां आपको 10 Lines से संबंधित जानकारी मिलेगी। इसके अलावा निबंध (Essay), भाषण (Speech), कविता (Poem) भी पढ़ने को मिलेगा।

1 Comment

Leave a Comment

close