Advertisement
Advertisement

बाल दिवस पर 10 वाक्य

Advertisement

नमस्ते, 10Lines.co में आज हम बाल दिवस पर निबंध 10 लाइन अर्थात “in English, 10 Lines on Children’s Day in Hindi” के विषय के ऊपर चर्चा करेंगे। तो लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें और बाल दिवस का इतिहास अथवा बाल दिवस का क्या महत्व है? और 14 नवम्बर क्यों मनाया जाता है? इसका ज्ञान प्राप्त करें।

10 Lines on Children’s Day in Hindi

बाल दिवस आते ही देश के सभी विद्यालयों में छात्रों की प्रसन्नता और उत्सुकता को देखा जा सकता है। क्योंकि स्कूल में पढ़ने वाले अधिकतर बच्चे इस दिन की महत्वता और इस दिन मिलने वाले अपार आनंद को सोचकर बेहद खुश होते है। यदि इस बार आप को बाल दिवस के मौके पर कोई 14 नवंबर पर निबंध लेखन या फिर बाल दिवस पर पंक्तियां सुनाने के लिए मंच से आमंत्रित किया गया है। तो आज हम आपके लिए बाल दिवस पर 10 पंक्तियां लेकर आए हैं, साथ ही इस बाल दिवस से जुड़ी अनेक महत्वपूर्ण जानकारी यहां हम साझा कर रहे हैं।

10 Lines on Bal Diwas in Hindi

चिल्ड्रंस डे के बारे में निबंध लिखने के लिए स्कूलों में अक्सर कहा जाता है। लेकिन हर बार इस विषय पर एक अलग पंक्ति लिखना और अपने निबंध को आकर्षित बनाना मुमकिन नहीं हो पाता है। लेकिन इन बाल दिवस पर 10 वाक्य और पंक्तियों की मदद से आप आसानी से चिल्ड्रंस डे के विषय पर एक अच्छा निबंध तैयार कर सकते हैं।

Advertisement

Few Lines on Children’s Day in Hindi

  1. 👉 हर साल पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के जन्मदिन पर बाल दिवस का पर्व मनाया जाता है।
  2. 👉 पंडित जवाहरलाल नेहरू जी को बच्चे प्यार से चाचा नेहरू कह कर बुलाते हैं। चाचा नेहरू बच्चों को बहुत प्यार करते थे और वह बच्चों को देश का निर्माता मानते थे।
  3. 👉 बाल दिवस केवल बच्चों के लिए नहीं बनाया जाता है, अपितु यह दिन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जी द्वारा किए गए महत्वपूर्ण कार्यों और उनके इस महान योगदान को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए मनाया जाता है।
  4. 👉 बाल दिवस के दिन बच्चों को प्यार और आदर तो दिया ही जाता है साथ ही साथ इस दिन बच्चों के हित की चीजें लोगों को बताई जाती है। ताकि वे भी बच्चों की भलाई और अधिकारों के प्रति जागरूक हो सके।
  5. 👉 विश्व बाल दिवस 20 नवंबर को मनाया जाता है।
  6. 👉 बाल दिवस के अवसर पर बड़े-बड़े कॉलेज और स्कूलों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।
  7. 👉 बच्चों को उनकी योग्यता और क्षमता के अनुसार अलग-अलग दलों में बांटकर प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है।
  8. 👉 बाल दिवस के अवसर पर मिठाइयां और चॉकलेट्स बच्चों को बाटी जाते हैं। यही कारण है कि बच्चों को यह दिन इतना ज्यादा अच्छा लगता है।
  9. 👉 कुछ गैर सरकारी संगठन (NGO) बाल दिवस के अवसर पर गरीब लोगों की बस्ती पर जाते हैं, और बच्चों को उपहार देकर उनके संग खुशियां बांटते है।
  10. 👉 बाल दिवस वैसे एक बेहद खुशी का दिन हैं लेकिन इस दिन बच्चों की भलाई और अधिकारों की जानकारी सभी को दी जाती है।

Children’s Day Essay 10 Lines in Hindi

  1. 👉 Children’s Day पहली बार 1857 में जून महीने के दूसरे रविवार के दिन Massachusetts Church में मनाया गया था।
  2. 👉 बहुत से देशों में 1 जून के दिन चिल्ड्रंस डे मनाया जाता है। इस दिन को लोग International Day for protection of children के नाम से भी मनाते हैं।
  3. 👉 भारत में चिल्ड्रंस डे को बाल दिवस के नाम से पुकारा जाता है। भारत में चिल्ड्रंस डे या यूं कहें कि बाल दिवस पहली बार 14 नवंबर 1964 के दिन मनाया जाता हैं। भारत में बाल दिवस प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू जी के जन्म दिवस के अवसर पर मनाते हैं।
  4. 👉 जवाहरलाल नेहरू जी की मृत्यु से पूर्व बाल दिवस 20 नवंबर के दिन सार्वभौमिक बाल दिवस के रूप में मनाया जाता था।
  5. 👉 बाल दिवस के दिन पंडित जवाहरलाल नेहरू जी के कार्यों और संघर्षों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है।
  6. 👉 इस दिन बच्चों को स्कूलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया जाता है।
  7. 👉 इस दिन अनाथ बच्चों और गरीबों के बीच मिठाइयां और कपड़े भी बांटे जाते हैं।
  8. 👉 बच्चों के अच्छे भविष्य के लिए इस दिन सरकार नई नई योजनाएं पेश करती हैं। इन कल्याणकारी योजनाओं से ना सिर्फ बच्चों का भविष्य सुधरता है बल्कि वो शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ पाते हैं।
  9. 👉 कई सामाजिक कार्यकर्ता और बड़े-बड़े एनजीओ गरीब बच्चों की सहायता के लिए आश्रम बनवाते हैं।
  10. 👉 बाल दिवस के अवसर पर बच्चों को उत्साहित करने हेतु स्कूलों में कई सारी प्रतियोगिताएं रखी जाती है। और भाग लेने वाले विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया जाता है।

इन सभी पंक्तियों को एक ही क्रम में लिखने पर आप इससे एक बहुत ही अच्छा निबंध लिख सकते हैं। इसके अलावा आप मंच से भी इन महत्वपूर्ण पंक्तियों को सुनाकर लोगों का ध्यान आकर्षित कर सकते है।


बाल दिवस का इतिहास

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि पंडित जवाहरलाल नेहरू जो स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे उनके जन्मदिन के अवसर पर हर साल बाल दिवस मनाया जाता हैं। बाल दिवस का कार्यक्रम 14 नवंबर के दिन आयोजित किया जाता है।

पंडित जवाहरलाल नेहरू जी को बच्चों से अपार प्रेम तथा लगाव था। इसलिए वह सदैव बच्चों के साथ अपना ज्यादा से ज्यादा समय व्यतीत करते थे। इसलिए जब छात्रों ने उनके जन्मदिन के अवसर पर उनका जन्मदिन आयोजित करने के लिए कहा तब पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने अपने जन्मदिन के अवसर पर विशाल पार्टी करने, आनंद मनाने के स्थान पर इस दिवस को बच्चों के लिए यादगार बनाने का प्रस्ताव रखा।

पंडित जवाहरलाल नेहरू जी की इच्छा का मान रखते हुए उनके शिष्यों ने उनके जन्मदिन के अवसर पर बच्चों के लिए कार्यक्रम आयोजित किए और बड़े ही धूमधाम से बाल दिवस मनाया। तब से आज तक बाल दिवस 14 नवंबर के दिन मनाया जाता है।


बाल दिवस का महत्व

हमारे देश में हर साल बाल दिवस को बड़े ही जोरों शोरों से मनाया जाता है लेकिन यह प्रश्न बहुत से लोगों के मन में रह जाता है कि आखिर Children’s Day को इतनी धूमधाम से मनाने की क्या आवश्यकता है? इस प्रश्न का जवाब बहुत ही सरल है।

बच्चों को देश का भविष्य माना जाता है और अपने उज्ज्वल भविष्य की नींव बचपन से ही मजबूत करना हर देशवासी का कर्तव्य है।

भारत के बच्चों को उनके अधिकार व कर्तव्य का भान करवाना सिर्फ गुरुजनों का ही नहीं बल्कि हर भारतीय का फर्ज है। और बाल दिवस के अवसर पर बच्चों के हित की जानकारी सभी को दी जाती है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि भारत में रहने वाला कोई भी बच्चा अपने अधिकारों से वंचित ना रहे हैं और अपने कर्तव्य को निष्ठापूर्वक पूरा करें।

बच्चों को उनके अधिकारों का ज्ञान करवाना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि किसी परिस्थिति में उनके अधिकारों का हनन होता है तो वह अन्याय के खिलाफ आवाज उठाकर न्याय पा सके। बिना अपने अधिकारों के ज्ञान के वो ऐसा नहीं कर पाएंगे। इसलिए बाल दिवस के अवसर पर सभी बच्चों को मानव अधिकारों के बारे में बताया जाता है।


14 नवंबर बाल दिवस क्यों मनाया जाता है?

वैसे तो यह बात सभी को पता है कि बाल दिवस बच्चों के लिए मनाया जाता है लेकिन 14 नवंबर क्यों मनाया जाता है? यह बात बहुत कम लोगों को मालूम है। क्योंकि ज्यादातर लोगों को लगता है कि बाल दिवस का त्यौहार केवल पंडित जवाहरलाल नेहरू जी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए मनाया जाता है लेकिन ऐसा नहीं है।

बाल दिवस को देश के भविष्य को उज्जवल करने के उद्देश्य से मनाया जाता है। बच्चे देश का भविष्य होता है ऐसे में बच्चों को उनके कर्तव्य और अधिकारों के प्रति जागरूक करना अति आवश्यक है। वैसे तो बाल दिवस सभी बच्चे मनाते हैं लेकिन इस दिन को विशेषकर गरीब और उपेक्षित बच्चों के लिए मनाया जाता है ताकि वह भी दूसरे बच्चों की तरह खुशी के दो पल जी सके।

बाल दिवस के अवसर पर बच्चों को स्नेह भाव के साथ खुश रखने का प्रयत्न किया जाता है। बाल दिवस मनाने के पीछे एक बड़ा कारण यह भी है कि जब बच्चों को उनके कर्तव्य का ज्ञान होगा तभी वह देश का मान आगे बढ़ा पाएंगे।


बाल दिवस कब मनाया जाता है और क्यों मनाया जाता है?

वैसे तो हमारे देश में सभी पर्व और त्योहारों को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन इन सभी त्योहारों में बाल दिवस की बात ही अलग होती है क्योंकि बाल दिवस सभी त्योहारों से बहुत अलग होता है और यह विशेषकर बच्चों के लिए मनाया जाता है इसीलिए बाल दिवस मनाने का अंदाज दूसरे त्योहारों से बिल्कुल अलग होता है।

  • बाल दिवस के दिन बच्चों को खुश करने के लिए अलग-अलग तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।
  • इतना ही नहीं इस दिन बच्चों को ना सिर्फ मानसिक बल्कि शारीरिक स्तर पर भी लाभ पहुंचाया जाता हैं।
  • बाल दिवस के अवसर पर आयोजित किए जाने वाली प्रतियोगिताओं में बच्चों का मनोरंजन करने के साथ-साथ बच्चों के हित के बारे में उनके माता-पिता को भी बताया जाता है और कई जगह पर शपथ भी दिलवाई जाती है कि माता-पिता हमेशा अपने बच्चों का सम्मान करेंगे, कभी भी उनका अनादर और उपेक्षा नहीं करेंगे।
  • बाल दिवस के अवसर पर बच्चे नए नए कपड़े पहनते हैं और अपने स्कूल जाते हैं जहां पर बच्चों को अच्छे-अच्छे कपड़ों से लेकर मिठाइयां और चॉकलेट दी जाती हैं। बच्चों का मनोरंजन करने के लिए संगीत और नृत्य जैसे कार्यक्रमों को भी आयोजित किया जाता है।
निष्कर्ष

तो साथियों बाल दिवस के इस पर्व की आप सभी को हमारी तरफ से ढेर सारी शुभकामनाएं। हमें आशा है इस लेख में दी गई जानकारी का उपयोग करके आप इस दिन को यादगार और आनंदमयी बना पाएंगे अथवा बाल दिवस पर निबंध 10 लाइन अर्थात “in English, 10 Lines on Children’s Day in Hindi” के लेख को अन्य लोगों के साथ साझा करोगे। धन्यवाद!

Recent Articles

Related Stories

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here