Advertisement
Advertisement

महात्मा गांधी पर 10 वाक्य हिंदी में

Advertisement

नमस्ते, 10Lines.co में आज हम महात्मा गांधी पर 10 पंक्तियां अर्थात “in English, 10 Lines on Mahatma Gandhi in Hindi” के विषय पर ऊपर चर्चा करेंगे। तो लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें और महात्मा गांधी पर लिखे 10 वाक्य का ज्ञान प्राप्त करें। इसके अलावा यहां आपको महात्मा गांधी की जीवनी, महात्मा गांधी पर निबंध अथवा महात्मा गांधी द्वारा किए गए आंदोलन का वर्णन भी किया जाएगा।

10 Lines on Mahatma Gandhi in Hindi

महात्मा गांधी जी भारतीय देश में जन्मे है। गांधी जी ने अपना सम्पूर्ण जीवन सदाचार और साधारण सा जीवन जीना ही सरल समझा। महात्मा गांधी जी के बारे में लगभग सम्पूर्ण भारत जानता है क्योंकि भारत की मुद्रा में गांधी जी का चित्र देखने को मिलता है।

गांधी जी एक बहुत ही सरल से व्यक्तित्व के व्यक्ति थे। उन्होंने अपना सारा जीवन दूसरों के भले के लिए ही जीना समझा। महात्मा गांधी जी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी जानने के लिए आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। महात्मा गांधी जी के बारे में कुछ ऐसी जानकारी जो आपको हर किसी वेबसाइट पर नहीं मिलेगी। आपको ये जानकार बहुत ही अच्छा लगेगा की महात्मा गांधी जी की कुछ ऐसी जानकारी जो शायद आपने पहले कभी नहीं सुनी होगी। महात्मा गांधी जी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी 10 Lines (महात्मा गांधी निबंध 10 लाइन) में लिखी गयी है। महात्मा गांधी के बारे में 10 लाइन निबंध और रोचक तथ्य निम्नलिखित है।

Advertisement

10 Points on Mahatma Gandhi in Hindi

  1. 👉 महात्मा गांधी जी का पूरा नाम मोहनदास करमचन्द गांधी है।
  2. 👉 महात्मा गांधी जी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 को भारत के राज्य गुजरात में पोरबंदर नामक गाँव में हुआ।
  3. 👉 गांधी जी एक साधारण से परिवार में जन्मे थे।
  4. 👉 गांधी जी के पिता करमचन्द गांधी सनातन धर्म के पंसारी जाति से थे।
  5. 👉 गांधी जी की माता पुतलीबाई परनामी वैश्य समुदाय से थी।
  6. 👉 गांधी जी के पिता काठियावाड़ की एक छोटी सी रियासत के प्रधानमंत्री थे।
  7. 👉 महात्मा गांधी जी के पिता जी की शादी 4 बार हुई थी जिनमें उनकी माता पुतलीबाई चौथी थी।
  8. 👉 महात्मा गांधी की शादी मात्र 13 वर्ष की आयु में 14 वर्ष की कस्तूरबा बाई मकंजी से कर दी गयी।
  9. 👉 महात्मा गांधी जी को लोग प्यार से बापूजी कहते थे।
  10. 👉 महात्मा गांधी जी ने भारत की आजादी में बहुत बड़ा योगदान दिया जिसकी वजह से उन्हें “राष्ट्रीय पीता” का खिताब मिला।

Ten Lines About Gandhiji in Hindi

  1. 👉 भारतीय इतिहास में महात्मा गांधी जी का नाम सुनहरे शब्दों में लिखा गया है। महात्मा गांधी जी एक नायक के रूप में हम सभी के दिलों में आज भी जिंदा है और हमेशा जिंदा रहेंगे।
  2. 👉 महात्मा गांधी जी ने बिहार से आंदोलन शुरू किए और विजय प्राप्त की लेकिन उन सभी आंदोलनों का मुख्य उद्देश्य यही था की उन्होंने व उनके सहकर्मियों ने अहिंसा का सहारा लिया और विजय प्राप्त की।
  3. 👉 महात्मा गांधी का पूरा नाम “मोहनदास करमचंद गांधी” है उन्हें भारतीय जनता द्वारा बापूजी के नाम से जाना जाता है।
  4. 👉 महात्मा गांधी जी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 में गुजरात के पोरबंदर गाँव में हुआ था। गांधी जी के पिता काठियावाड़ के प्रधानमंत्री थे। गांधी जी की माता वैश्य समुदाय से थी।
  5. 👉 महात्मा गांधी जी की कम उम्र में ही शादी करा दी गयी थी । महात्मा गांधी जी की शिक्षा इंग्लैण्ड से पूरी की।
  6. 👉 ब्रिटिश शासन के समय गांधी जी इंग्लैण्ड से पढ़ाई पूरी कर वापस अपने देश आ गए थे। महात्मा गांधी जी को जब पता चला की ब्रिटिश शासन के चलते भारत दुविधा में है तो उन्हें बहुत दुख पहुंचा।
  7. 👉 महात्मा गांधी जी ने भारत की आजादी के लिए और ब्रिटीशियों से छुटकारा पाने के लिए बहुत से आंदोलन शुरू किए और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का हिस्सा होने के नाते असहयोग सविनय अवज्ञा आंदोलन, सत्याग्रह आंदोलन, दांडी मार्च और बाद में भारत छोड़ो आंदोलन जैसी बहुत से आंदोलन करके अंग्रेजों को भगा दिया।
  8. 👉 बापू जी ने भारत देश के लिए बहुत से कष्ट सहे। गांधी ने अपने सोच विचार से एक स्वतंत्रता सेनानी होने के कारण, उन्हें कई बार गिरफ्तारी भी देखनी पड़ी लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और लड़ते रहे।
  9. 👉 महात्मा गांधी जी ने सभी लोगों को आजादी दिलाने के साथ साथ ऊँच-नीच, भेदभाव, रंगभेद, धर्म, जातिवाद लिंग आदि जैसे असमानता को समानता में बदल दिया।
  10. 👉 भारत की आजादी 15 अगस्त 1947 को मिल गयी लेकिन 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी जी की हत्या कर दी गयी थी। महात्मा गांधी जी को नाथूराम गोडसे ने मार दिया था। महात्मा गांधी जी की मृत्यु के बाद भारत में हड़कंप मच गया था, देश भर शोक में डूब गया था लेकिन भारतीय सरकार द्वारा स्थिति को संभाल लिया गया था।

महात्मा गांधी का जीवन परिचय

महात्मा गांधी जी को हम बापू जी के नाम से भी जानते है। महात्मा गांधी जी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 में हुआ था उनका जन्म भारत के गुजरात राज्य के एक छोटे से गाँव पोरबंदर में हुआ था। गांधी जी एक ऐसे परिवार में जन्मे थे जहां उनके पिता एक सनातन धर्म के पंसारी जाति से संबंध रखते थे। गांधी जी के पिता ब्रिटिश शासन के समय काठियावाड़ की एक छोटी सी रियासत पोरबंदर के प्रधानमंत्री थे।

महात्मा गांधी जी अपने पिता की चौथी पत्नी के पुत्र थे। महात्मा गांधी जी की माता पुतलीबाई वैश्य समुदाय से थी। गांधी का अर्थ फुलेल बेचने वाला जिसे अंग्रेजों में परफ्यूम कहा जाता था। गांधी जी की माता का अधिकांश समय पूजा पाठ में जाता था जिसकी वजह से महात्मा गांधी जी का भगवान में विश्वास था और वो एक साधारण जीवन जीना पसंद करते थे।

महात्मा गांधी की उम्र 13 साल की थी तभी उनकी शादी कस्तूरबा बाई से हो गई थी जब उनकी उम्र 14 वर्ष थी उनसे करा दिया गया था। गांधी जी की पत्नी को कस्तूरबा बाई के नाम से जाना जाने लगा। महात्मा गांधी जी के चार बच्चे थे और सभी पुरुष थे।


महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका कब गए थे?

सन् 1893 में गांधी जी दक्षिण अफ्रीका गए थे और वहाँ होने वाले अन्याय के बारे में पता चलते ही उन्होंने अवज्ञा आंदोलन शुरू किया और उसके बाद भारत वापस लौट आए। महात्मा गांधी जी की पढ़ाई इंग्लैंड से हुई थी।

सन् 1915 में गांधी जी दक्षिण अफ्रीका से भारत वापस लौटे उसके बाद उन्हें पता चला की भारत ब्रिटिश शासन के अंतर्गत जुल्म सह रहे है। ये बात सुनते ही उनको धक्का सा लगा। फिर सन् 1920 में कांग्रेस लीडर बाल गंगाधर तिलक की मृत्यु के बाद गांधी जी ही कांग्रेस के मार्गदर्शक रहे।

सन् 1914 – 1919 के बीच जो प्रथम विश्व युद्ध हुआ था। उस दौरान गांधी जी और ब्रिटिश सरकार के बीच पूर्ण सहयोग का समझौता हुआ था। उस समय गांधी जी की और ब्रिटिश सरकार की आपस में भारत की सम्पूर्ण रूप से आजादी की बात हुई थी। लेकिन ब्रिटिश ने विश्व युद्ध के बाद इस बात को मानने से इंकार कर दिया था। इसके बाद गांधी जी ने बहुत सारे आंदोलनों का आवागमन किया।

महात्मा गांधी के आंदोलन के नाम

आंदोलनों में गांधी जी के सबसे प्रमुख आंदोलन थे।

सन् 1918 चंपारण और खेड़ा सत्याग्रह
सन् 1919 खिलाफत आंदोलन
सन् 1920 असहयोग आंदोलन
सन् 1930 अवज्ञा आंदोलन
सन् 1942 भारत छोड़ो आंदोलन

महात्मा गांधी जी के अहिंसावादी व्यवहार के चलते ब्रिटिश साम्राज्य को झुकना पड़ा और भारत देश को छोड़ कर जाना पड़ा।

महात्मा गांधी जी ने एक बार नहीं बहुत बार उनसे समझौते की बात की लेकिन वो हर बार उन्हें टालते गए लेकिन अंत में 15 आगत 1947 को भारत की आजादी संपन्न हुई। भारत की आजादी के बाद 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू किया लेकिन दुख की बात है कि गांधी जी जिसने भारत की आजादी में अहम भूमिका निभाई थी। उनकी मृत्यु सरेआम कर दी थी। गांधी जी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे थे। उन्होंने गांधी की हत्या बंदूक की गोली से कर दी थी।

30 जनवरी 1948 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी बिरला हाउस में शाम 5 बज कार 17 मिनट पर प्रार्थना सभा में गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी।

गांधी जी के हत्यारों को फांसी पर लटका दिया गया था। कुछ लोग जो हत्यारे साबित हुए जिनका महात्मा गांधी की मृत्यु में हाथ था उनको आजीवन कारावास की सजा और फांसी की सजा सुनाई गयी। गांधी जी एक बहुत ही अच्छे विचार वाले व्यक्ति थे। उन्हें अपने देश से काफी प्यार था जिसकी वजह से उन्हें राष्ट्रपिता का सम्मान मिला था। गांधी जी को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है। वो आज भी हम सभी के दिलों में जिंदा है और हमेशा रहेंगे।


महात्मा गांधी का जन्म कौन से सन में हुआ था?

क्या आपको पता है कि महात्मा गांधी का जन्म कब और कहां हुआ था?

महात्मा गांधी जी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 पोरबंदर (गुजरात) में हुआ था। महात्मा गांधी जी का जन्म एक अच्छे और साधारण से परिवार में हुआ था।


महात्मा गांधी के आध्यात्मिक गुरु कौन थे?

जैसी की हर कामयाब व्यक्ति के पीछे उसके गुरु की शिक्षा का हाथ जरूर होता है उसी तरह महात्मा गांधी जी के गुरु “राजचंद्र जी” थे। महात्मा गांधी जी उन्हें अपना आध्यात्मिक गुरु मानते थे और इनसे काफी हद तक प्रभावित थे। राजचन्द्र जी महात्मा गांधी जी से पहली बार सन् 1891 में मुंबई में मिले। एक बार मिलने के बाद ही महात्मा गांधी जी उनसे काफी प्रभावित रहे जिसकी वजह से राजचंद्र जी गांधी जी के आध्यात्मिक गुरु के रूप में माना जाता है।


महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता क्यों कहा जाता है?

सुभाष चंद्र बोस द्वारा 04 जून 1944 के दिन सिंगापुर रेडियो से एक संदेश प्रसारित करते हुए महात्मा गांधी को “देश का पिता” कहकर संबोधित किया था। इसके बाद 06 जुलाई सन् 1944 को सुभाष चंद्र ने एक बार फिर से रेडियो सिंगापुर के माध्यम से एक संदेश प्रसारित किया था जिसमें गांधी जी को राष्ट्रपिता कहकर फिर दुबारा से संबोधित किया था।


महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका कब गए थे?

गांधी जी 1893 में साउथ अफ्रीका आए थे और वहां जाकर रंग भेद की नीति के खिलाफ उन्होंने आवाज उठाई थी।


गांधी जी की उम्र कितनी थी?

गांधी जी का जन्म 02 अक्टूबर 1869 में हुआ और उनकी मृत्यु 30 जनवरी 1948 को हो गयी जिसके अनुसार उनकी उम्र 78 वर्ष की हो गयी थी।


महात्मा गांधी की आत्मकथा का क्या नाम है?

“सत्य के प्रयोग” महात्मा गांधी द्वारा लिखी पुस्तक है जिसे उनकी आत्मकथा के नाम से जाना जाता है। गांधी जी ने ये पुस्तक गुजराती भाषा में लिखी थी। बाद में इसका हिन्दी में अनुवाद भी आया।


गांधीजी के संस्कृत के मास्टर का क्या नाम था?

महात्मा गांधी के संस्कृत के मास्टर का नाम श्री नारायण गुरु था।


गांधी जी के राजनीतिक आध्यात्मिक करण से क्या तात्पर्य है?

गांधी जी चाहते थे की लोगों के बीच समानता जागे और सभी प्रकार के भेदभाव से पीछा छूटे इसलिए महात्मा गांधी जी ने राजनीति का सहारा लिया।


सुभाष चंद्र बोस ने महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कब कहा?

06 जुलाई 1944 को जापान में गांधी जी को सुभाष चंद्र बोस द्वारा ये नाम दिया गया।


सन् 1913 में कौन सा आंदोलन शुरू किया गया?

ग़दर पार्टी साम्राज्यवाद के खिलाफ हथियारबंद संघर्ष का ऐलान और भारत की पूरी आजादी की मांग करने वाली राजनीतिक पार्टी थी, जो कनाडा और अमेरिका में प्रवासी भारतीयों ने सन् 1913 में बनाई थी। इसके संस्थापक अध्यक्ष सरदार सोहन सिंह भकना थे और पार्टी का मुख्यालय सैन फ्रांसिस्को में था।


निष्कर्ष

जैसा की हम सभी जानते है कि भारत की आजादी के पीछे बहुत से क्रांतिकारियों का हाथ था परंतु बिना हथियार उठाए आंदोलन करना एक अनोखी बात है। महात्मा गांधी हमारे भारत के सच्चे हीरो थे। महात्मा गांधी जी हम सभी के प्रेरक है और उनसे हमें बहुत कुछ सीखने को मिला हैं।

यकीन मानिए गांधी जी जैसी जीवनी हर किसी की नहीं है। गांधी जी ने अपना सम्पूर्ण जीवन लोगों के हक के लिए निकाल दिया और अंत में भारत को आजादी दी। उनका साधारण सा जीवन हम सभी को बहुत कुछ सिखाता है। उम्मीद करता हूँ की आपको 10 Lines on Mahatma Gandhi in Hindi के ऊपर लिखा ये लेख अच्छा लगा होगा। अगर ये लेख अच्छा लगा हो तो कृपया करके आप इस लेख को आगे साझा (Share) भी करें और कमेंट के माध्यम से अपनी इच्छा बताएं।

Recent Articles

Related Stories

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here